Our Feeds

गुरुवार, 21 दिसंबर 2017

Kunal Garg

आर टी आई (RTI) लगाने से पहले इन बातों पर विचार ज़रूर करें


क्या आप भी सोच रहे हैं की किसी सुचना को प्राप्त करने के लिए आर टी आई लगायें? लेकिन आई टी आई से जुड़े कुछ तथ्य हैं जो आपको जानने चाहिए। आर टी आई (RTI) लगाने से पहले इन बातों पर विचार ज़रूर करें।

आर टी आई के तहत सुचना प्राप्त करना कोई ज्यादा मुश्किल नहीं है व इसके लिए कोई ज्यादा क़ानूनी जानकारी की आवश्यकता नहीं है। एक आम आदमी भी आर टी आई के तहत आसानी से सुचना प्राप्त कर सकता है। लेकिन फिर भी हमें कुछ तथ्यों की जानकारी होनी आवश्यक है जो को आर टी आई से जुड़े हैं जिनपर हम आज इस पोस्ट में विचार करेंगे।

व्यक्तिगत प्रतिशोध: सुचना का अधिकार एक आम आदमी को भी काफी ताकत देता है जिस से की वह किसी से भी सुचना प्राप्त कर सकता है जिस से किसी की भी जवाबदेही तय की जा सकती है। लेकिन सुचना के अधिकार का कोई भी गलत इस्तेमाल नहीं किया जा सकता इसलिए इसका गलत इस्तेमाल कभी करने का भी ना सोचें।

साधारणतय देखा जाता है की अगर किसी की किसी सरकारी अधिकारी से व्यक्तिगत अनबन हो तो वह उसे आर टी आई के नाम से डराता है जबकि यह बिलकुल गलत है।

व्यक्तिगत प्रतिशोध व किसी को परेशान करने की नियत से लगाईं गयी आर टी आई की दरखास्त हमेशा खारिज की जाती है। जो की आर टी आई अधिनियम, 2005 सिर्फ उन दर्खास्तों के बारे में है जो समाज के कल्याण के लिए ज़रूरी होती हैं। 

विनम्र रहे: यह भी विशेष ध्यान रखना चाहिए की आप विनम्र रहे। जब भी आप सुचना या जानकारी प्राप्त करने के लिए दरखास्त लिखें तब ऐसे शब्द प्रयोग करें जो सभ्य हों व आप विनम्र लगें। सुचना अधिकारी को भी यकीन आये की आप सुचना जन कल्याण के लिए प्राप्त करना चाहते हैं। 

उदहारण के लिए, यदि आपके बिजली का बिल ज़रूरत से कई ज्यादा आ जाए तो आप आर टी आई में उसकी विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन ऐसे में आपको अपने शब्दों पर ध्यान रखना पड़ेगा। जैसे की आप अपनी दरखास्त में यह नहीं कह सकते की "किस आधार पर मुझे इतना सारा बिजली का बिल भेजा गया है?"

जबकि आपका आवेदन विनम्रता पूर्ण होना चाहिए, आप लिख सकते हैं "कृपया मुझे बिजली बिल भेजे जाने बारे विस्तृत जानकारी प्रदान करने की कृपा करें"


अच्छी तरह से तैयार किया गया आवेदन: इस बारे में भी ख़ास ध्यान देना चाहिए की सुचना प्राप्त करने के लिए दिया गया आवेदन अच्छी तरह से तैयार किया गया हो। जैसे की जो जानकारी मांगी गयी है उसका उचित ब्यौरा होना अति अवशायक है तभी सुचना अधिकारी जानकारी उपलब्ध करवा सकता है। 

कई और भी बातें हैं जैसे की, आवेदन में प्रार्थी का नाम पता आदि भी सही से लिखा होना चाहिए ताकि सुचना अधिकारी प्रार्थी आसानी से संपर्क कर सके और मांगी गयी सुचना दे सके

जैसे की बिजली बिल के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाली बात है, ऐसे आवेदन में मीटर नंबर, बिजली बिल नंबर, दिनांक, बिल किसके नाम से आता है आदि भी ज़रूरी हैं जो की आवेदन पत्र में लिखे होने चाहिए जिससे सुचना अधिकारी को पता चल सके की सुचना किस बारे मांगी गयी है

छोटा आवेदन पत्र लिखें: यह भी ज़रूरी है की आप मांगी गयी जानकारी के लिए जो भी आवेदन दें, उसे थोडा छोटा रखें व उसमे सिर्फ इतनी है जानकारी दे जो की ज़रूरी है। इस से सुचना अधिकारी को भी आसानी होती है जिससे बेवजह की देरी नहीं होती
  
हरियाणा में ऐसा कानून है की आपका सुचना प्राप्त करने के लिए दिया गया आवेदन सिर्फ कुछ शब्दों में ही सिमित रहना चाहिए व उस से ज्यादा शब्द नहीं होने चाहिए। हालांकि, यदि किसी आर टी आई के तहत दरखास्त में तय सीमा से ज्यादा शब्द हों तो सिर्फ इस वजह से आर टी आई की दरखास्त खारिज नहीं की जा सकती

सुचना प्राप्त करना हमारा मौलिक अधिकार है लेकिन यह अधिकार सिर्फ तभी सभी का भला कर सकता है अगर इसका इस्तेमाल अच्छी तरह से किया जाए


Post Your comments below....

Previous
Next Post »

1 टिप्पणियाँ:

Write टिप्पणियाँ
बेनामी
AUTHOR
10 नवंबर 2022 को 4:18 pm delete

It is believed that Romans played this sport with wooden blocks with different numbers painted on them, instead of paper playing cards. Online casinos especially the Blackjack provides VIP rewards as properly. These VIP rewards can come with incentives such as extra bonuses, accelerated cash-outs, larger table limits, tons of|and a lot of} more. The key problem for frolicking blackjack offline is that, you'll have have} quite a few casinos choose out|to 토토사이트 select|to pick} from so there shall be quite a few sets of guidelines select from|to choose from}. In this category, the Dealer can gander at his gap card and triumphs the hand if it is a Blackjack or 21.

Reply
avatar